Bekarar Dil Ki Intezar Shayari

ना जाने कब तक ये आँखें उसका इंतज़ार करेंगी,
उसकी याद में कब तक खुद को बेक़रार करेंगी,
उसे तो एहसास तक नहीं इस मोहब्बत का यारो,
ना जाने कब तक ये धड़कन उसका ऐतबार करेगी।

Add Comment