Hindi Shayari on Teri Yaad Ka Chandan

तेरी यादं का चंदन जब से मला हे तन पे,
मेरी आस्तीन मे कितने साप पल गये,
तुझे नज़र भर के देखना मेरा गुनहां था,
इश्क की आँच से मेरे सारे हाथ जल गये

Add Comment